अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष Political MN Paper 1st Year

अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की विवेचना करें। यह प्रश्न स्नातक सिमेस्टर 1 के MN Paper पढ़ने वालों के लिए महत्वपूर्ण प्रश्न है। इस नोट्स से आप अपने प्रश्न को सरलता से याद कर सकेंगे और साथ ही परीक्षा में हाल कर सकेंगे।

अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष परिचय (IMF)

अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) संयुक्त राष्ट्र की एक प्रमुख वित्तीय एजेंसी है। यह एक अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थान है जिसका मुख्यालय वाशिंगटन, डी॰ सी॰ में है। अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की स्थापना 27 दिसंबर, 1945 को हुई थी। 1 जुलाई, 1944 को अमेरिका के न्यू हैम्पशायर में आयोजित ब्रेटन वुड्स सम्मेलन में इसकी नीव राखी गई। ब्रेटन वुड्स सम्मेलन का उद्देश्य एक नई वैश्विक आर्थिक व्यवस्था का निर्माण करना था जो महामंदी और द्वितीय विश्व युद्ध जैसी घटनाओं से बच सके। IMF की स्थापना के समय इसके सदस्य देशों की संख्या 29 थी। आज, IMF के 190 सदस्य देश हैं।

उदेश्य

निगरानी: IMF प्रत्येक सदस्य देश के आर्थिक और वित्तीय विकास की बारीकी से निगरानी करता है और नियमित आधार पर सदस्य देश के साथ नीतिगत बातचीत करता है। यह सदस्य देशों को उनके आर्थिक नीतियों में सुधार करने में मदद करता है।

वित्तीय सहायता: विभिन्न ऋण उपकरणों या “सुविधाओं” के माध्यम से, IMF समायोजन प्रक्रिया में सहायता करने और सदस्य देशों के आर्थिक विकास और स्थिरता को बहाल करने के लिए अपने सदस्य देशों को भुगतान संतुलन की चुनौतियों का सामना करने के लिए उधार देता है। यह सदस्य देशों को आर्थिक संकट से उबरने में मदद करता है।

तकनीकी सहायता: IMF अपने सदस्य देशों को आर्थिक और वित्तीय प्रबंधन, वित्तीय प्रणाली के विकास, और राजकोषीय और मौद्रिक नीति निर्माण में तकनीकी सहायता प्रदान करता है। यह सदस्य देशों को उनके आर्थिक नीतियों को अधिक प्रभावी बनाने में मदद करता है।

अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष का विशेषताएं

सदस्यता: IMF के सदस्य देशों को एक कोटा प्रणाली के माध्यम से एक पूल में धन का योगदान करना होता है। कोटा सदस्य देश की अर्थव्यवस्था के आकार और महत्व को दर्शाता है। IMF के सदस्य देशों के कोटे उनकी मतदान शक्ति को भी निर्धारित करते हैं।

संगठन: IMF का नेतृत्व एक प्रबंध निदेशक करता है, जिसे कार्यकारी बोर्ड द्वारा नियुक्त किया जाता है। कार्यकारी बोर्ड में प्रत्येक सदस्य देश का एक प्रतिनिधि होता है। कार्यकारी बोर्ड IMF के मुख्य निर्णय लेने वाली संस्था है।

कार्यनीति: IMF की कार्यनीति आर्थिक विकास और स्थिरता को बढ़ावा देने पर केंद्रित है। IMF अपने सदस्य देशों के साथ नीतिगत बातचीत करता है और उन्हें आर्थिक सुधारों को लागू करने में मदद करता है। IMF के सदस्य देशों को आर्थिक संकट से उबरने में भी मदद करता है।

IMF एक महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थान है जो वैश्विक आर्थिक प्रणाली के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। IMF अपने सदस्य देशों को आर्थिक संकट से उबरने और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने में मदद करता है।

#politicalscience #mnpaper #bbmku #semester1

Leave a Comment